CHAR-DHAM_YATRA

गृहमंत्री ने साधु संतों से की गहन मंत्रणा, संत समाज से लिया मार्गदर्शन एवं आशीर्वाद

 

गृहमंत्री ने संतों की संस्थाओं और अखाड़ों से अनुरोध किया कि काशी की भव्य आरती की तरह हरिद्वार और गंगा तटों पर होने वाली आरतियों को भी भव्य रूप दिया जाना चाहिए

बोले गृहमंत्री अमित शाह : तीर्थों की सुंदरता, पवित्रता और गरिमा को आस्था अनुसार व्यवस्थित करने के लिए सरकार निरंतर कार्य कर रही है

केदारपुर का पुनर्निर्माण नए आकार में आ चुका है : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह

 

बद्रीनाथ धाम के पुनर्निर्माण पर कार्य जारी,तीर्थों की सुंदरता, पवित्रता और गरिमा को आस्था अनुसार व्यवस्थित करने के लिए सरकार निरंतर कार्य कर रही है: शाह

 

 

केंद्रीय सहकारिता एवं गृहमंत्री अमित शाह ने परमार्थ निकेतन, स्वर्गाश्रम में गंगा आरती में भाग लिया

 

 

काशी की भव्य आरती की तरह हरिद्वार और गंगा तटों पर होने वाली आरतियों को भी भव्य रूप दिया जाना चाहिए: अमित शाह

 

 

 

केंद्रीय सहकारिता एवं गृहमंत्री अमित शाह ने आज परमार्थ निकेतन, स्वर्गाश्रम में गंगा आरती में भाग लिया। वही इससे पहले गृहमंत्री ने साधु संतों और संत समाज के वरिष्ठ जनों के साथ मंत्रणा की और उनका आशीर्वाद लिया।

गृहमंत्री ने परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष चिदानंद मुनि ,योग गुरू बाबा रामदेव, अखाडा परिषद के अध्यक्ष महंत रवीन्द्र पुरी, स्वामी कैलाशानन्द, साध्वी भगवती, स्वामी ईश्वरानन्द एंव अन्य संतगणों से मंत्रणा की।

 

संतो ने तीर्थों को लेकर गृहमंत्री जी को अनेक सुझाव दिए और तीर्थों की गरिमा, व्यवस्था, पवित्रता और सुगमता को बनाए रखने का सुझाव दिया। संतों ने कहा कि देश दुनिया के श्रद्धालु श्रद्धापूर्वक तीर्थों के दर्शन कर सकें, उन्हें पर्याप्त आवागमन की सुविधा और सुरक्षा प्राप्त हो ताकि देवभूमि की गरिमा व श्रद्धानुसार तीर्थाटन कर सकें ।

 

गृहमंत्री ने संतो के इस सुझाव का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि वह इस संबंध में पूरे प्रयास करेंगे। साथ ही गृहमंत्री ने संतों की संस्थाओं और अखाड़ों से अनुरोध किया कि काशी की भव्य आरती की तरह हरिद्वार और गंगा तटों पर होने वाली आरतियों को भी भव्य रूप दिया जाना चाहिए ताकि देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालु इस पुण्य लाभ में भागीदार बन सकें और भारतीय संस्कृति के इस दिव्य और भव्य आयोजन में सम्मिलित हो सके।

 

गृहमंत्री ने कहा कि काशी कॉरिडोर और महाकाल की नगरी भव्य रूप में आ चुकी है । केदारपुर का पुनर्निर्माण नए आकार में आ चुका है। बद्रीनाथ धाम के पुनर्निर्माण पर कार्य चल रहा है। तीर्थों की सुंदरता, पवित्रता और गरिमा को आस्था अनुसार व्यवस्थित करने के लिए सरकार निरंतर कार्य कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here