उत्तराखंड के चम्पावत उपचुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। सीएम समेत तमाम मंत्री, विधायक व सेलीब्रेटी प्रचार कर रहे हैं। सुबह अभिनेता हेमंत पांडे ने सीएम के पक्ष में वोट मांगे तो शाम को विराट कवि सम्मेलन का आयोजन कर जनता को लुभाया।

0
94

चम्पावत मैं मौसम बदल गया :
है नमन उनको जिनके सामने बौना हिमालय: कुमार विश्वास

 


चम्पावत
उत्तराखंड के चम्पावत उपचुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है। सीएम समेत तमाम मंत्री, विधायक व सेलीब्रेटी प्रचार कर रहे हैं। सुबह अभिनेता हेमंत पांडे ने सीएम के पक्ष में वोट मांगे तो शाम को विराट कवि सम्मेलन का आयोजन कर जनता को लुभाया।

डिजिटल खिड़की व देवभूमि विचार मंच की ओर से बुधवार को गोरल चौड़ मैदान में विराट कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में आए कवियों, सीएम पत्नी गीता धामी व मुख्यमंत्री प्रतिनिधि कैलाश गहतोड़ी ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया शुभारंभ किय

कवि विश्वास ने कहा की उत्तराखंड मेरा घर है, चंपावत आकर मैं वहां की खूबसूरती से अभिभूत हूं। विश्वास ने काव्य पाठ कर मौजूद जनता को मंत्रमुग्ध कर दिया। उन्होंने सुनाया-

है नमन उनको कि जो यशकाय को अमरत्व देकर इस जगत के शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं,

है नमन उनको कि जिनके सामने बौना हिमालय जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं

है नमन उस देहरी को जिस पर तुम खेले कन्हैया घर तुम्हारे परम तप की राजधानी हो गये हैं

है नमन उनको कि जिनके सामने बौना हिमालय…

इसके बाद भारी डिमांड पर सबसे प्रसिद्ध व लोकप्रिय रचना कोई दीवाना कहता है कोई पागल समझता है, ये धरती की बेचैनी को बस बादल समझता है..सुनाई।

कवि गजेंद्र ने कहा की प्यार में जो करना है जल्दी करो, वरना क्या चल रहा अमित शाह के मन में…., महीनो हो गए मगर वो अभी घर नहीं लौटे, सजन परदेश में जाकर विधायक हो गए होते…, यहां खादी पहनकर कर संसद में आंख मारी होगी, तो स्वर्ग में आंख मारी होते तो गर गए होते…।

कवियत्री शिखा ने कहा की रोज मिलना मिलाना जरूरी नहीं, इश्क जब हो जताना जरूरी नहीं…, बहे जो इश्क में आंसू, उसे अब तोल दिया है, दफन जो राज दिल में है उसे अब खोल दिया है…। कवि दिनेश बावरा ने कहा की अगर अभिमन्यु चक्रव्यू तोड़कर अंदर जा सकता है, तो क्या दिन रात गाना सुनने वाला बच्चा गाना नहीं जा सकता।

कवि रमेश मुस्कान ने कहा की तुम फैशन टीवी से लगती हो मैं संस्कार का चैनल हूं, तुम मिनरल वाटर की बोतल, मैं गंगा का पवन जल हूं…। कवियत्री कविता तिवारी ने कहा की पैदा हर सांस में लगन कर ले, शीतल कलेजे की अगन कर ले तू, कभी हिंद, जय हिंद, वन्देमातरम, कभी कभी ऐसे भी भजन कर ले…।

संचालन गिरजा शंकर जोशी ने किया। इस मौके पर विधायक राम सिंह कैड़ा, विनोद कंडारी, पूर्व विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन, नंदी क्षेत्रीय, प्रकाश तिवारी, पालिकाध्यक्ष गोविंद वर्मा, राजेंद्र गहतोड़ी, जगदीश जोशी, श्याम पांडेय आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here