गंगा में बहे तीनों दोस्तों का नहीं लगा सुराग, जन्मदिन की पार्टी मनाने गए थे ऋषिकेश

0
132

गंगा में बहे तीनों दोस्तों का नहीं लगा सुराग, जन्मदिन की पार्टी मनाने गए थे ऋषिकेश

देहरादून में गुमानीवाला के आठ किशोर दोस्त का जन्मदिन मनाने शनिवार को घर से करीब 10 किलोमीटर दूर तपोवन में नीम बीच पहुंचे। लेकिन तीन दोस्तों के गंगा में डूबने से जन्मदिन की खुशी पलभर में मातम में बदल गई।

स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना थाना मुनिकीरेती पुलिस को दी। थाना मुनिकीरेती पुलिस ने एसडीआरएफ ढालवाला की मदद से रविवार को भी गंगा में घाटों व बैराज पर सर्च अभियान चलाया लेकिन किशोरों का कहीं कुछ पता नहीं चला।

थाना मुनिकीरेती पुलिस ने बताया कि किशोर पार्टी मनाने आए थे। कार्यक्रम के बाद आर्यन बंगवाल (16) पुत्र वीरेंद्र बंगवाल, वत्सल बिष्ट (17) पुत्र महेंद्र बिष्ट, प्रतीक मलेठा (16) पुत्र राकेश चंद्र निवासी गली नंबर 28 गुमानीवाला ऋषिकेश गंगा में उतर गए।

तेज बहाव होने के कारण एक किशोर गंगा में बहने लगा, साथी को गंगा में बहता देख दो अन्य किशोरों ने उसे बचाने का प्रयास किया। लेकिन तीनों किशोर गंगा की तेज धाराओं में ओझल हो गए। किशोर के डूबने की सूचना मिलते ही परिजन नीम बीच पहुंचे। किशोरों के परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

तपोवन नीम बीच गंगा का ऐसा तट है जो पर्यटकों को बरबस अपनी तरफ आकर्षित करता है। प्रकृति की सुंदरता और रेतीली जगह पर पर्यटक यहां सैर सपाटे के साथ मौज मस्ती करते हैं। कुछ पर्यटक यहां गंगा में उतर जाते हैं।

गहराई का अंदाजा नहीं होने के कारण वह गंगा की तेज धाराओं में ओझल हो जाते हैं। कुछ सैलानी शराब का सेवन करने के बाद बाद गंगा में उतरते हैं। इन्हीं पर्यटकों की मौजमस्ती के चलते बीते एक साल में यहां करीब एक दर्जन से अधिक पर्यटक अपनी जान गवां चुके हैं।

कांवड़ मेला दृष्टिगत टिहरी जिला प्रशासन शिवभक्तों की सुरक्षा के लिए बैठक पर बैठक कर रहा है। प्रशासन ने मुनि की रेती और तपोवन क्षेत्र में संवेदनशील और अति संवेदनशील घाटों को चिह्नित कर उन्हें बंद किया गया है

कुछ घाटों पर बैरिकेडिंग के साथ पुलिस कर्मचारी तैनात हैं। लेकिन टिहरी प्रशासन ने नीमबीच पर सुरक्षा के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए। मौज मस्ती के लिए सैकड़ों पर्यटक यहां आते हैं और नहाते समय अपनी जान गवां देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here