उत्तराखंड में भाजपा दोबारा बनाएगी सरकार या कांग्रेस के हाथ लगेगी बाजी ?

0
129

उत्तराखंड की जनता ने किस दल को अगले पांच साल सरकार चलाने का जनादेश दिया है, इसका फैसला मतगणना 10 मार्च को सामने आ जाएगा। सुबह आठ बजे सभी जिलों में एक साथ मतगणना शुरू होगी। दोपहर बाद दो बजे तक सभी परिणाम आने की उम्मीद है। इस बीच कांटे की टक्कर की अंदेशा में देहरादून में सियासी गतिविधियां तेज हो गई हैं। उत्तराखंड की पाचवीं निर्वाचित विधानसभा के लिए आज मतगणना होने जा रही है।

चम्पावत जिले में दो जगहों पर मतगणना होगी, शेष सभी जिलों में एक ही जगह पर सुबह आठ बजे से मतगणना प्रारंभ होगी। सुबह नौ बजे से रुझान मिलने शुरू होंगे, जबकि दोपहर 11 बजे तक रुझानों के आधार पर सियासी हवा साफ होती नजर आएगी। इसके बाद दोपहर दो बजे तक सभी जगह ईवीएम की गणना पूरी होने के कारण प्रदेश में किसकी सरकार बनी यह स्पष्ट हो जाएगा।

रद्द मतों का फिर होगा सत्यापन
इस बीच आयोग ने स्पष्ट किया है कि यदि किसी सीट पर जीत का अंतर मतगणना के समय रद्द किए गए डाक मतपत्रों से कम रहती है तो ऐसी स्थिति में अंतिम परिणाम जारी करने से पहले रद्द किए गए सभी डाक मतपत्रों का अनिवार्य रूप से सत्यापन किया जाएगा, इस प्रकिया की वीडियोग्राफी भी की जाएगी।

मतगणना हॉल में प्रवेश के लिए जरूरी पास के साथ ही डबल वैक्सीन और 48 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करनी जरूरी है। मतगणना से पहले सुबह आठ बजे तक प्राप्त सभी पोस्टल बैलेट को गिनती में शामिल किया जाएगा। इसके लिए सभी डीएम को डाक विभाग से सम्न्वय बनाने को कहा गया है।

सख्त पुलिस व्यवस्था
मतगणना के लिए प्रदेशभर में 6500 पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगी है। इसके अतिरिक्त 14 कंपनी पीएसी और आठ कम्पनी अर्द्ध सैनिक बलों की भी तैनाती की गई है। साथ ही निर्वाचन आयोग की तरफ से भी मतगणना पर निगरानी के लिए सभी सीटों पर एक एक प्रेक्षक और सभी टेबल पर एक एक (कुल 1296) माइक्रो ऑब्जरवर तैनात किए गए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने सभी राजनैतिक दलों से मतगणना में सहयोग के साथ ही शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है।

चुनाव एक नजर:
उपलब्ध सीट – 70
मैदान में प्रत्याशी – 632
ईवीएम में दर्ज वोट – 52,96,645
प्राप्त पोस्टल बैलेट – 1,07,314
मतगणना स्थल – 70
मतगणना में लगे कार्मिक – 7681

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here