उत्तराखंड:पुष्कर सिंह धामी के लिए 7 विधायक सीट छोड़ने को तैयार , मंत्री और कई वरिष्ठ नेताओं का भी समर्थन

0
352

देहरादून। पुष्कर सिंह धामी को दोबारा मुख्यमंत्री बनाने की मांग प्रबल होते जा रही है , राज्य के आधा दर्जन से अधिक विधायक जहां सीएम पुष्कर सिंह धामी के लिए अपनी सीट छोड़ने को तैयार हैं वहीं संगठन के कई वरिष्ठ नेता व कैबिनेट मंत्री भी समर्थन में नजर आ रहे हैं। इधर सोशल मीडिया में भी पुष्कर सिंह धामी को दोबारा मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग जोर पकड़ते जा रही है

गौरतलब है कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी सरकार बनाने जा रही है। लेकिन अभी तक पार्टी को यह नहीं पता कि उनका मुख्यमंत्री कौन होगा। मुख्यमंत्री की रेस में फिलहाल पुष्कर सिंह धामी का नाम सबसे आगे चल रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो रुड़की से विधायक प्रदीप बत्रा भी सीएम पुष्कर सिंह धामी के लिए सीट छोड़ने के लिए तैयार हो गए हैं इस तरह अब तक करीब 7 विधायक पुष्कर सिंह धामी के लिए सीट छोड़ने को तैयार हो गए हैं। इसमें कैलाश गहतोड़ी, जागेश्वर से विधायक मोहन सिंह मेहरा, विधायक राम सिंह कैड़ा, सुरेश गड़िया जैसे नाम शामिल हैं वही इनमें खानपुर के निर्दलीय विधायक उमेश कुमार शर्मा का भी नाम शामिल है।

गौरतलब है कि बीते दिनों मतगणना में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत पाकर इतिहास रच दिया। भाजपा वह पहली पार्टी बन गई जिसने उत्तराखंड में लगातार दो बार अपनी सरकार बनाई। 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के खाते में 57 सीटें आई थी तो इस बार 47 सीटें भाजपा ने अपने कब्जे में की है। हालांकि जिनके चेहरे पर चुनाव लड़ा गया यानी पुष्कर सिंह धामी खुद अपनी खटीमा सीट से चुनाव हार गए।

ऐसे में भाजपा हाईकमान के लिए टेंशन का सबब तो बन गया है। एक तरफ जहां रमेश पोखरियाल निशंक, भगत सिंह कोश्यारी, सतपाल महाराज, अनिल बलूनी जैसे दिग्गजों के नाम मुख्यमंत्री की रेस में सामने आ रहे हैं। वहीं, उत्तराखंड के छह विधायक पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। जी हां, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चंपावत और जागेश्वर के विधायक के बाद अब कुल 7 विधायकों ने पुष्कर सिंह धामी को अपना समर्थन दे दिया है।

सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है की खानपुर से निर्दलीय विधायक बने पत्रकार उमेश कुमार शर्मा भी पुष्कर सिंह धामी के लिए अपनी सीट छोड़ने को तैयार हैं। इसके अलावा बीते दिन चंपावत के विधायक कैलाश गहतोड़ी और जागेश्वर के विधायक मोहन सिंह मेहरा ने भी अपनी सीट छोड़ने की पेशकश की थी। वहीं सूत्रों की माने तो संगठन स्तर पर भी कई नेतागण पुष्कर सिंह धामी को दोबारा मुख्यमंत्री बनाने के पक्ष में है। इधर संत समाज ने भी पुष्कर सिंह धामी को दोबारा मुख्यमंत्री बनाने के लिए समर्थन दिया है।

माना जा रहा है कि बहुत जल्द भाजपा हाईकमान मुख्यमंत्री के चेहरे पर फैसला ले सकता है। देखना दिलचस्प होगा कि क्या पुष्कर सिंह धामी अपनी सीट से चुनाव हारने के बाद ही मुख्यमंत्री बनते हैं या नहीं।

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का भी समर्थन
शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाने का समर्थन किया है. उन्होंने कहा है कि सीएम पुष्कर धामी के नेतृत्व में उत्तराखंड में भाजपा बहुमत के साथ जीती है. इसलिए अगर वह दोबारा मुख्यमंत्री बनते हैं, तो इस पर कोई भी आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here