CHAR-DHAM_YATRA

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा
क्यो कहा मामला सीधे-सीधे मेरे चुनावी हित जुड़ा हुआ है इसलिए मैं अपनी आवाज को ठीक से उठा भी नहीं पा रहा हूं पढे एक रिपोर्ट

रुद्रपुर की पीएससी वाहिनियों के पोस्टल बैलट न पड़ना, तो उनके अधिकारों का हनन है ही है, मगर मेरे लिए भी एक चुनौतीपूर्ण सवाल खड़ा हो गया है? मगर मामला सीधे-सीधे मेरे चुनावी हित जुड़ा हुआ है तो इसलिए मैं अपनी आवाज को ठीक से उठा भी नहीं पा रहा हूं। मगर हकीकत यह है कि मैं, यह समझ नहीं पा रहा हूं कि केवल लालकुआं पोस्टल बैलट क्यों नहीं पहुंचे? क्योंकि यह प्रश्न मुझे कितनी क्षति होगी, इसका नहीं है। प्रश्न यह भी है कि इससे चुनावी प्रणाली की निष्पक्षता पर गंभीर सवाल खड़े हो जाएंगे! एक सवाल, एक सेंटर में एक ही व्यक्ति के द्वारा डाले गये वोटों ने खड़ा किया है तो दूसरा सवाल लालकुआं क्षेत्र से संबंध रखने वाले पुलिसकर्मी मतदाताओं के बैलट का उन तक न पहुंचना भी खड़ा कर रहा है! जवाब आज नहीं तो कल निष्पक्ष पर्यवेक्षकों को चुनाव प्रणाली के साथ जुड़े हुए लोगों को देना ही पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here